चेरी के फायदे और नुकसान

चेरी फल लाल, काले और पीले रंग की होते हैं, इसके साथ ही चेरी एक रोमांटिक फल होता है। आज हम आपको चेरी के फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी देंगे। देखने और स्वाद में बहुत अच्छी चेरी में एंथोसायनिन नाम के पदार्थ होते हैं जो शरीर के अंगों में जलन और दर्द को कम करता है। चेरी में आयरन, पोटेशियम, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन ए, बी,सी, बीटा कैरोटिन, कैल्शियम, फोस्फोरस, मैगनीज थायमिन, राइबोफ्लेविन, पेटोथेनिक जैसे एसिड पायें जाते हैं।

चेरी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है जो शरीर के प्रभावी कणों को मुक्त कर देती है। चेरी के मुख्य स्वास्थ्य लाभों में आँखों की देखभाल, मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली, कब्ज से राहत, स्वस्थ्य ह्रदय के लिए, वजन कम करें, गठिया में, बालों को स्वस्थ्य बनाए आदि बनाने के लिए चेरी बहुत फायदेमंद होती है। आइये विस्तार के चेरी के फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी प्राप्त करें।

चेरी के फायदे – Cherry ke fayde

गठिया की समस्या दूर करें

चेरी में एंथोसायनिन मौजूद होने के कारण यह गठिया रोग में बहुत फायदेमंद होती है। जो लोग गठिया जैसी बीमारी से ग्रस्त होते हैं। उनके शरीर में यूरिन एसिड अधिक मात्रा में बनता है। जिसके कारण रोगी के हाथों पैरों में सूजन आ जाती है। जिससे उन्हें बहुत दर्द होता है। गठिया रोग से ग्रस्त लोगों को दिन में करीब 15 से 20 खट्टी चेरी का सेवन करना चाहिए।

कैंसर में

चेरी में एंटी ऑक्सीडेंट जैसे तत्व पायें जाते हैं। यह तत्व रोगी के शरीर में रोग की लड़ने की क्षमता को बढ़ाते हैं। इसका सेवन करने से कैंसर जैसे रोग दूर हो जाते हैं। चेरी में फिनानिक एसिड और फ्लेवोनायड भी पायें जाते हैं। ये दोनों मनुष्य के शरीर में स्थिर कैंसर के ऊतक को बढने से रोकते हैं।

ह्रदय रोगों के लिए

जो लोग ह्रदय संबंधी रोंगों से पीड़ित होते हैं चेरी का सेवन उनके लिए बहुत ही लाभकारी होता है। क्योंकि चेरी में पोटेशियम, लोहा,जस्ता मैगनीज जैसे खनिज तत्व मौजूद होते हैं। इसके साथ ही इसमे बीटा कैरोटिन जैसे तत्व भी पाएं जाते हैं। यह ह्रदय रोग को रोकने में अधिक सक्षम होते हैं।

रक्तचाप के लिए

चेरी में पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है इसका सेवन करने से हमारे शरीर में सोडियम की मात्रा कम हो जाती है। जिससे शरीर का रक्तचाप का स्तर भी सामान्य हो जाता है। यदि आप चेरी का सेवन नियमित रूप से करते हैं तब आपका रक्तचाप नियंत्रण में रहता है। इसके साथ ही शरीर का कोलेस्ट्रोल का स्तर भी ठीक हो जाता है।

उच्च रक्तचाप के लक्षण और घरेलू उपाय

हड्डियों के लिए

चेरी का सेवन करने से शरीर की हड्डियों में मजबूती आ जाती है। इसका मुख्य कारण यह है कि चेरी में विटामिन सी की भी भरपूर मात्रा पाई जाती है। विटामिन सी हमारे शरीर के कोलेजन और ऊतकों के लिए लाभकारी होती है।

त्वचा के लिए लाभाकरी

चेरी विटामिन सी, बी, ए और ई का सबसे अच्छा स्रोत है। इसका अर्थ यह है कि चेरी मल्टी विटामिन मौजूद होते हैं जो त्वचा को स्वस्थ बनाएं रखने में मदद करते हैं। चेरी के रस से काले धब्बे नष्ट हो जाते हैं और त्वचा चमकने लगती है।

चेरी के नुकसान – Cherry ke nuksan

1. चेरी में मौजूद फाइबर की उच्च मात्रा कुछ ही हद तक ठीक होती है। हलांकि फाइबर के अधिक सेवन से नुकसान नहीं होता। लेकिन जब आप उच्च फाइबर की मात्रा में चेरी का सेवन करते हो तब आपको पेट में ऐंठन, आंत्र गैस का अनुभव होता है।
2. यदि आपको चेरी से एलर्जी है, तो इसका सेवन आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। चेरी खाने श्वास बंद, खुजली और पित्त हो सकती है। यदि आपको चेरी खाने से इन लक्षणों का अनुभव हो तो चेरी का सेवन न करें।
3. चेरी पोषक तत्वों से भरपूर होता है, लेकिन जब हम इसका सेवन अधिक मात्रा में करते हैं, तो शरीर में पोषक तत्वों की कमी आ जाती है।

Share This information --> इस जानकारी को अपने दोस्तों में यहाँ से शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *