अखरोट की खेती की जानकारी हिंदी में Akhrot ki kheti ki vidhi hindi me

अखरोट की खेती की जानकारी हिंदी में Akhrot ki kheti ki vidhi hindi me अखरोट  की खेती कैसे करे

अखरोट जिसे इंग्लिश में हम Walnut के नाम से जानते है इसका  वैज्ञानिक नाम जुगलेन्स रीजिया  Juglans Regia है  ये  एक सुन्दर और सुगन्धित पेड़ हैं। आज हम इसी   मेवावर्गीय  फसलो में शामिल अखरोट की वैज्ञानिक खेती कैसे करे | अखरोट की खेती कैसे करे ये जानकारी आपको Healthtipshindime.com पर उपलब्द की जा रही है

अखरोट  का पोधा :-

समुद्र तल से  करीब 1200 से 2200 मीटर की उंचाई पर लगने वाले

अखरोट   का फल बहार से एक हरे आवरण में लिपटा हुवा किसी गोल आकार की कैरी की तरह  नजर आता है

अखरोट को फलने फूलने के लिए मौसम का तापमान 10 डिग्री सेंटीग्रेट से नीचे होना चाहिए। इसका फल जैसे ही इसका   तापमान 2 से 4 सेंटीग्रेट  तक बढ़ता है, वैसे ही फल की ऊपरी परत सूखने लगती है और ये  फल तैयार  हो जाता है

 जैसे ही अखरोट के पोधे को ग्राफ्टिंग से   तेयार होने  के बाद हम सभी जानते है की शीतोष्ण कटिबंधी  पोधो की रोपाई का काम ठण्ड के मोसम में  यानि की जनवरी में की जाती है  अखरोट की खेती के लिए 1 मीटर लम्बा, 1 मीटर  चोडा,और 1 मीटर गहरा  गड्डे खोद कर उसमे  अखरोट के पोधे को लगाते है

 खाद  और उर्वरक :-

गड्डे खोदने के बाद निकाली  गई  बहार की मिट्टी  में हम  नत्रजन ,फास्फोट,पोटाश और गोबर की खाद मिला दी जाती है  जिसमे हमे नत्रजन  की 50 से 60  gm ,

फास्फोट की 40 से 45 gm,और पोटाश की  35 से 40 gm  मात्रा  को 10 gm गोबर की खाद में अच्छी तरह  मिला कर

मिट्टी में इन तीनो  पोषक तत्वों को पोधे के  बढवार के समय देना आवश्यक है जब तक की ये फल देने लायक ना हो जाये

ध्यान रहे जिस भी भूमि में अखरोट लगाने  से पहले वहा पर मिट्टी की जाच कर पोषक तत्व देना एक वैज्ञानिक तरीका है

 पर्वतीय क्षेत्र में अखरोट बहुतायत में होता है। अन्य फल  की तुलना में ये एक लंबे समय तक(करीब 200 साल )इसकी खेती फायदा पहुचाती है वर्तमान में अखरोट की वैज्ञानिक पद्धति से खेती कर अच्छी पैदावार लेने का अब हमारे पास पहले से आधिक अच्छा  सुनहर मोका है

अखरोट का भंडारण :-

अखरोट जैसे फलों को अच्छी तरह से संसाधित और संग्रहित किया जाना चाहिए। खराब तरीके से भंडारण के कारण कीट और फफूंदी के होने से अखरोट ख़राब हो जाता है। अखरोट के लंबे समय तक भंडारण के लिए आदर्श तापमान -3 से 0 डिग्री सेल्सियस है । औद्योगिक और घरेलू भंडारण के लिए आद्रता कम होनी चाहिए ।

अखरोट का उत्पादन  :-

अखरोट के उत्पादन में चीन सबसे आगे है और इसका उत्पादन करने वाले अन्य देशों में प्रमुख हैं – ईरान, अमेरिका, तुर्की और यूक्रेन I पूर्वी यूरोपीय देशों में सबसे ज्यादा उपज होती है जिनमें प्रमुख्य हैं , स्लोवेनियाऔर रोमानिया । संयुक्त राज्य अमेरिका अखरोट का विश्व का सबसे बड़ा निर्यातक है और उसके बाद तुर्की का स्थान है।

 

Share This information --> इस जानकारी को अपने दोस्तों में यहाँ से शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *