तम्बाकू छोड़ने के घरेलु आयुर्वेदिक तरीके हिंदी tambako upay hindi

Tambako chodne ke gharelu aayurvedic aasan upay hindi :-

गुटखा और पान मसाला खाना न सिर्फ आपके लिए बल्कि आपके परिवार के लिए भी हानिकारक हो सकता है. आपकी गुटखा और पान मसाला खाने की आदत को देखते हुए हो सकता है की आपके बच्चे और परिजन इस गन्दी आदत का शिकार बन जाए और गुटखा और तम्बाकू की लत में पड़ जाए आजकल ना सिर्फ बड़े , छोटे छोटे बच्चे भी गुटखे की चपेट में आ रहे है. जो बच्चा एक बार गुटखा खाना शुरू कर देता है, ड्रग्स की लत की तरह उसको इससे छुटकारे दिलाने में काफी मसक्कत करनी पड़ती है. गुटखा खाने से ओरल कैंसर या मुहं का कैंसर होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है. गुटखे में मौजूद कई तरह के रसायनों से हमारे डीएनए को भी नुक्सान हो सकता है. इससे सांस सम्बन्धी बीमारिया भी हो सकती है

गुटखा और तम्बाकू छुड़ाने के लिए आप यह घरेलू उपाय आजमा सकते है

1.अदरक

नशे की आदत को छोड़ने के लिए अदरक को आप एक घरेलु उपाय के रूप में अपनाये और इसके छोटे छोटे टुकडो को काटकर निम्बू के रस में भिगोकर रख दे, साथ ही आप इसमें थोडा सा नमक     और थोड़ी सी अजवाइन भी जरुर मिला ले. इसके सुख जाने के बाद आप इस मिश्रण को एक डिब्बी में रख ले. जब भी आपको नशा करने की तलब उठे तो आप इसमें से एक दो टुकड़े खा ले. इससे       आपका तम्बाकू से मन हट जाएगा और साथ ही अजीर्ण, अरुचि और कब्ज जैसी समस्याए नही रहेगी

2.इलायची

सौंफ, इलायची, हरड और सूखे आंवले से भी नशे की ललक कम होती है. एक पुडिया में सूखे आंवले के टुकड़े, इलायची, सौंफ, हरड के टुकड़े रखे. ताकि जब तलब लगे तो कुछ टुकड़े मुंह में रखे और चबाते रहे . इनसे तलब तो कम होगी ही साथ ही खट्टी डकार, भूख न लग्न, पेट फूलने में आराम मिलता है

3.शहद

गुनगुने पानी में निम्बू का रस एवं शहद डालकर पीना तलब को कम करता है. नशे के विषाक्त तत्वों को भी शरीर से बाहर निकालता है

4.अजवायन

50 ग्राम सौंफ एवं इतनी ही मात्र में अजवायन लेकर तवे पर भून ले. इसमें थोडा सा निम्बू का रस एवं हल्का काला नमक डाल ले. इसे एक डब्बी में रखकर अपनी जेब में डाल ले. ताकि जब भी तलब लगे तो कुछ दाने मुहं में रख कर चबाते रहे. इससे तलब कम हो जायेगी और साथ ही गैस, एसिडिटी की समस्या में भी आराम मिलेगा

Tambako chodne ke gharelu aayurvedic aasan upay hindi :-

Click here —>>सिगरेट पिने के चौंका देने वाले फायदे,ई-सिगरेट क्या है?


सिगरेट पीने की इच्छा को धीरे धीरे पूर्णतया ख़त्म करने के लिए बिना शुगर की च्युइंगम को मुंह में डाल कर घंटों तक चबाते रहिये और यह कोशिश करनी चाहिए की आप अपने आपको किसी ना किसी काम में बीजी रखने की कोशिश करे|
किसी भी 
होमियोपैथिक की शॉप पर जाकर आप सल्फर की दवा ले आएं जो  बहुत ही सस्ती होती है यह  Dilution के नाम से बेचीं जाती  है । इस दवा की एक एक बूंद सुबह सुबह खाली पेट जीभ पर डाल लें| ऐसा अगले दो तीन दिनों तक हमेशा एक-एक बूंद डालते रहिये| परिणाम सामने आने लगेगा। फिर धीरे धीरे हफ्ते में दावा लेने की प्रक्रिया को 2 -3 बार कर दे| कम से कम दो महीने के अन्दर बड़े से बड़ा नशेड़ी या नशा करने वाला इंसान सिगरेट, शराब आदि के नशे से तौबा करने ला जायेगा ।

इसके आलाम वा शारीरिक गतिविधियाँ जैसे कसरत, फुर्ती वाले काम करने से नशा करने की इच्छा नहीं होगी । इसलिए जब कभी भी आपको सिगरेट पीने की इच्छा हो जाए तो कुछ कसरत करें/ जागिंग करें या सीढ़ियां चढ़े | ऐसा करने से आपकी नशा करने की इच्छा धीरे धीरे ख़त्म हो जाएगी ।

सिगरेट छोड़ने के लिए बेकिंग सोडा बहुत ही कारगर साबित होता है। दिन में तीन बार आधा चम्मच बेकिंग सोडा लें। इससे शरीर में मौजूद निकोटिन पेशाब/ मूत्र के माध्यम से धीरे धीरे शरीर से बाहर निकलता है। इसके कारण हमें निकोटिन लेने की इच्छा धीरे धीरे कम हो जाती है। बेकिंग सोडा को भोजन करने के बाद भी पिया जा सकता है।

जो लोग सिगरेट / गुटका / तंबाकू /बीड़ी  पीते है, उनके शरीर मे फास्फोरस की अत्यधिक कमी हो जाती है, तो इसके  लिए आप PHOSPHORUS 200 दवाई का प्रयोग करे यह ऊपर बताई गयी सभी घातक नशे की कैसे भी लत को छुड़ा देगा ।

इसके बाद जब कभी भी आपकी सिगरेट पीने का मन करे तो आप जीभ पर थोडा सा नमक लगा लें, इससे आपकी सिगरेट पीने की इच्छा ख़त्म हो जाएगी।

अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े करने के बाद उस पर थोडा सा नींबू निचोड़ कर हल्का- सा  काला नमक गिरा कर धूप मे सुखा लीजिये ।  इनको सुखाने के बाद अदरक के टुकड़ो को अपनी जेब मे पुडिया बना कर रख लीजिये और अब जब भी आपका मन बीड़ी, सिगरेट, गुटका, तंबाकू आदि का सेवन के लिए करे तो  एक अदरक का टुकड़ा ले कर चूसना चुसना प्रारंभ कर दे. जैसे अदरक का रस आपके शरीर में जायगा तो नशे करने का आपका मन नहीं करेगा ।

विज्ञान की रिसर्च भी यही कहती है की कोई भी आदमी नशा उस स्थिति में  करता है जब उसके शरीर मे सल्फर की मात्रा में कमी होती है जिससे उसे  बार-बार नशा करने की इच्छा होने लगती है। सल्फर की इस कमी को अदरक के जरिये पूरा किया जा सकता है ।

निकोटिन चुइंगम का प्रयोग भी धूम्रपान छोड़ने के लिए किया जा सकता है. जब भी आपको सिगरेट पीने की इच्छा हो तो निकोटिन चुइंगम की एक चुइंगम अपने दातों और गालो के बीच में रख दे और धीरे धीरे चबाये, फिर कुछ समय के बाद चुइंगम की मात्रा थोड़ी थोड़ी कम करतें जाएँ, ऐसा करने से फिर कुछ समय बाद आपका सिगरेट और गुटके का सेवन अपनेआप बंद हो जायगा ।

धूम्रपान छोड़ने के लिए किसी भी आयुर्वेदिक दवाई की दुकान से या पंसारी ( किराणे) की दुकान से थोड़ी मुलेठी ले आये। फिर जब भी आपका मन सिगरेट पीने को करे तो मुलेठी को चूसे या चबाएँ। ऐसा करने से कुछ देर के लिए सिगरेट पीने का मन नहीं करेगा । यह एक बहुत ही बढ़िया सस्ता और कारगर उपाय है।
Share This information --> इस जानकारी को अपने दोस्तों में यहाँ से शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *